Thursday, April 24, 2014

चंद अलफ़ाज़ ...

इंसानों से तुम जुदा तो नहीं
समझते हो, तो क्या
तुम खुदा तो नहीं ...!

बड़ा बेरहम है
ये जो वक़्त है
मिजाज़ इसका
बड़ा ही सख्त है.....!


पत्थर को तराशा
इक बुत  बना दिया
इंसान को भूल गये
उसे पत्थर बना दिया …।

- रोली


2 comments:

  1. सुन्दर....बहुत सुन्दर भाव पिरोये हुए रचना..

    ReplyDelete