Tuesday, March 27, 2012

इक छोटी सी बात ना,
समझ सका ये दिल...
क्यों ज़माने की परवाह
मुझसे, उन्हें ज्यादा है....









मेरी मोहब्बत का मुझे
कुछ तो सिला मिले,
क्यों हर वक़्त तुझसे
शिकवा गिला मिले...

-रोली..

1 comment:

  1. वाह वाह....बहुत खूब !!!

    ReplyDelete