Wednesday, March 6, 2013


''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''
ख़्वाबों को बुला लूँ लेकिन
पलकों में नींद तो आये ...
मुन्तज़िर ही रहे हम तो
तुम्हारे दीदार के हरदम.....

- रोली
''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''

No comments:

Post a Comment