अजब सी फितरत से निभाई उल्फत उसने,
चाहता बहुत हूँ तुम्हें पर, जताता मै नहीं........
लबों तक बात आती है मोहब्बत की मेरे ,
तुम तो मेरी हो, ये सोच कर बताता मै नहीं........

Comments

  1. Pyar pyar hota hai..chahe bata do chahe chhuppa lo...

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

सुहाना सफर

गर्मी की छुट्टियां

कश्मीर की सरकार से गुहार..

मेरी नन्ही परी....

जय माता दी.....

यात्रा-वृत्तांत......

वसुंधरा......

तन्हाई

स्मृति-चिन्ह